G.K Tricks-4

1. सुषिर बाद्य यंत्र –
TRICK: मोर की नड मसकने से सतारा, शहनाई और अलगोजा की पूँगी बजती है “
मोर- मोरचंग
नड – नड वाद्य
मसकने – मसक
सतारा – सतारा
शहनाई – शहनाई
अलगोजा – अलगोजा
पूँगी – पूँगी
बजती – बांसुरी

2. घन बाद्ययंत्र –
TRICK: थाली माँझ, झंडू खडा घूम रहा है –
थाली – थाली
माँझ- मजीरा
झंडू- झाँझ
खडा- खडताल
घूम – घूँघरुँ

3. बनास नदी का प्रबाह क्षेत्र :-
trick:- ऊँट अभी समाचार सुनाएगा
ऊँट -उदयपुर ,टोँक
अभी- अजमेर ,
भीलबाडा
समा- सबाईमाधोपुर
चार-चित्तौड और राजसमंद
Note -(‘सुनाएगा’ को छोड देँ)

4. बनास की सहायक नदियाँ
TRICKS: ममी को काग की खबर है !
म- मेनाल
मी – मोरेल
को- कोठारी
का- कालिसिन्ध
ग- गम्भीरी
Note- (की छोड दो)
ख- खारी
ब- बेडच
Note- (र , है छोड दो)

5. कुप्रथाएँ / सबसे पहले रोक लगाने
बाला जिला/ सन्
TRiCKS: सब काको जो त्याग सज कर उडा 22, 33, 41, 44 ,53
1. सब =>सती प्रथा – बूँदी – 1822 मेँ
2. काको=> कन्या बध – कोटा -1833 मेँ
3.जो त्याग=> त्याग प्रथा – जोधपुर – 1841 मेँ
4.सज=>समाधी प्रथा – जयपुर – 1844 मेँ
Note- [‘कर’ छोड दे]
5. उडा=> डाकन प्रथा – उदयपुर – 1853 मेँ